बीजेपी और कांग्रेस ट्वीट वॉर, राहुल गाँधी ने शेयर किया वीडियो

    0
    247

    कर्नाटक में होने वाले चुनाव के लिए बीजेपी जोरोशोरों से प्रचार में लगी हुई है। वही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने सोशल अकाउंट पर कुछ इस तरह की पोस्ट शेयर कर रहे है। जिससे बीजेपी के इस प्रचार के प्रभाव का रंग फीका पड़ जाए। राहुल ने ट्वीट कर बीजेपी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर निशाना साधा। दरअसल कर्नाटक राज्य के 23 फीसदी दलितों के वोट हैं, इसी वजह से दलितों को लुभाने पर जोर दिया जा रहा है।

    रविवार को एक ट्वीट में राहुल ने कहा कि ''चुनाव के लिए बीजेपी और आरएसएस दलित हितैषी बनने का स्वांग रच रही है। लेकिन, असल में दोनों की विचारधारा दलितों और आदिवासियों को हमेशा नीचे रखने की ही है।''

    साथ ही राहुल गांधी ने ट्विटर पर एक वीडियो भी शेयर किया जिसमे बीजेपी नेताओं के विवादित बयानों को दर्शाया गया है। देश में गौरक्षा के नाम पर दलितों पर हुए अत्याचार को दिखाया गया है। कर्नाटक में बीजेपी के सीएम पद के उम्मीदवार बीएस येदियुरप्पा को टारगेट करते हुए। बताया गया हैकि वे दलित के हाथ का बना खाना नहीं खाते हैं। केवल वोट पाने के लिए दलित के घर खाने का दिखावा करते हैं, उनका खाना होटल से मंगवाया जाता है।

    इस वीडियो में बताया गया है कि, ''हर 12 मिनट में दलितों पर अत्याचार होता है और हर रोज़ 6 दलित महिलाओं के साथ दुष्कर्म होता है।'' 

    इसी के साथ वीडियो में उत्तर प्रदेश में सीएम योगी आदित्यनाथ को भी निशाना बनाया गया है। जिसमें दिखाया गया है कि ''योगी के दलित बस्ती में जाने से पहले दलितों को साबुन देकर नहाने के लिए कहा जाता है।''

    केंद्रीय मंत्री अनंत हेगड़े के बयान का जिक्र भी वीडियो में है, जिसमें कहा था कि ''बीजेपी सरकार भीमराव आंबेडकर का संविधान बदलने का हौसला रखती है।'' 

    ''आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत दलितों का हक़ छीनने के लिए भी आरक्षण खत्म करने की पैरवी कर हैं।''

    राहुल गांधी ने शनिवार को भी एक वीडियो पोस्ट किया था जिसमे कर्नाटक के उन 11 दागी नेताओं के नाम और फोटो दिखाए गए थे, जिन्हें बीजेपी ने टिकट दिया है। राहुल ने लिखा, "कर्नाटक में उम्मीदवारों के आपके चयन की एक पेशकश है। यह उम्मदवारो का चयन नहीं बल्कि 'कर्नाटक के मोस्ट वांटेड' लोगों के एपिसोड जैसा लगता है।"

    जवाब मांगते हुए राहुल ने लिखा, "प्रिय मोदीजी, आप बातें तो बहुत करते हैं, लेकिन समस्या यह है कि आपके बोलने और करने में कोई समानता नहीं होती है।''

    कर्नाटक में 12 मई को विधानसभा चुनाव होने वाले है। जिसको लेकर बीजेपी और कांग्रेस में ट्वीट वॉर जारी है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here